Friday, 3 October 2014

गांधी मैदान

शासन का षड्यंत्र ...
या तय विधि का विधान .... 
गांधी मैदान .. !! 
रावण को दहन रावण आये ... 
राम का हुआ अपमान ... ! 
फूटे पटाखे , छुटी फुलझड़ियाँ ...
कितने घर हुये बियावान ...!!
गांधी मैदान... !! 
बच्चों को कुचल महिसासुर ने...
माँ का आँचल किया लहूलुहान...!
अब बारी दोषारोपण की... 
कौन अपराधी , कौन शैतान ...!! 
गांधी मैदान... !! 
घायल को मिलेंगे पैसे ...
मरनेवालों को मिलेंगे दान ...! 
मुख के वीर , करनी के चोर... 
बतायेंगे देश महान ...!! 
गांधी मैदान... !!